Skip to main content

Posts

Featured

कविता



वो मिसाल हम इश्क़ मे बनाएँगें की आँखे जब तुम बंद करोगें तो बस हम आएँगें इतना प्यार हम भर देंगे आपके दिल मे की बस सब से पहले हम ही याद आएँगें |


सपनों की मंज़िल पास नहीं होती ज़िंदगी हर पल उदास नहीं होती ख़ुदा पे यकीन रखना मेरे दोस्त कभी-कभी वो भी मिल जाता है जिसकी आस नहीं होती |

पलकों को कभी हमने भिगोए ही नहीं वो सोचते हैं की हम कभी रोये ही नहीं वो पूछते हैं कि ख्वाबो में किसे देखते हो और हम हैं की उनकी यादो में सोए ही नहीं |


बीते हुए लम्हों का एहसास हो नजरो से दूर …दिल के पास हो सुनहरी शामो की मीठी सी याद हो खुदा से मांगी हुई इक अनसुनी फ़रियाद हो चेहरे की उदासी …धड़कन की आवाज़ हो कैसे समझाऊँ तुम कितने ख़ास हो बीते हुए लम्हो का एहसास हो……


तेरे दिल के दरो दीवार पर अपना नाम लिख दूँ आ तुझे अपनी मैं सुबह शाम लिख दूँ हर रात देखूँ तेरे सुहाने ख्वाब … उन ख्वाबो में अपने सारे अरमान लिख दूँ तेरे दिल के दरो दीवार पर अपना नाम… तेरे एहसासो से लिपट जाऊँ तेरी रूह में सिमट जाऊँ तेरे कदमो में सारा जहान रख दूँ तमाम हसरतो को अपनी तेरे नाम लिख दूँ तेरे दिल के दरो दीवार पर अपना नाम लिख दूँ…



हैप्पी रोज डे लाइफलाइन

Latest Posts

Tum naa ! Jadu ho

Aajao Na !

Ek Haseen Ehsaas hai Wo

Maa Jaisa Manta Hoon

Please mujhe maaf kardo !

Wo khwaab hai meri

Mere saath chaloge??

Behen ! Sunn Na

Maa